@import url('https://fonts.googleapis.com/css2?family=Yatra+Oney=swap'); अनवरत: समय-2009, समय-2010

गुरुवार, 31 दिसंबर 2009

समय-2009, समय-2010

समय-2009, समय-2010
  • दिनेशराय द्विवेदी

जा रहा हूँ,  मैं
कभी न लौटने के लिए 
हमेशा की तरह

तुम विदा  करो मुझे
खुशी-खुशी 
या फिर  नाराजगी  के साथ
या दुखी हो कर
मेरा जाना  तय है
हमेशा की तरह

मैं  नहीं रुकता  कभी 
किसी हालत में
मैं आता हूँ, मैं जाता  हूँ
मैं रहता हूँ तुम्हारे साथ
हर दम,  हमेशा
शायद तुम मुझे नहीं पहचानते
तो पहचानना सीखो
जिस ने पहचाना 
उस ने जिया है जीवन 
नहीं पहचाना जिस ने 
वह रहा असमंजस  में हमेशा
हमेशा की  तरह


नाम  नहीं था कोई मेरा
तुमने ही मुझे नाम दिया
किसी ने दिन कहा
किसी ने बांटा मुझे
प्रहरों, मुहुर्तों, घड़ियों,
पलों, विपलों, निमिषों में
किसी ने इन्हें जोड़ 
सप्ताह,  पखवाड़े, महीने 
मौसम, साल और सदियाँ  बना डालीं
कोई  युग और महायुग भी बना दे 
तो भी मैं रुकूंगा  नहीं
आना  और जाना  
मेरा स्वभाव है
मैं आता रहूंगा
मैं जाता  रहूँगा
तुम हो तब भी
तुम नहीं रहोगे तब भी
हमेशा, हमेशा की तरह

मैं जा रहा हूँ
प्रसन्नता के साथ
विदा  करो मुझे ......


लो  मैं  आ रहा हूँ फिर
मुझे पहचानो
स्वागत करो मेरा
प्रसन्नता के साथ

जिओ जीवन 
मेरे  साथ
हमेशा,  हमेशा की तरह।


* * * * * * * * * * * * * * * * * * * *

सभी को मुबारक हो आने वाला साल !
सब के लिए लाए खुशियाँ आने वाला साल !  

* * * * * * * * * * * * * * * * * * * * * * * 
 चित्रों पर दोहरा क्लिक कर  पूरे आकार में देखें

12 टिप्‍पणियां:

संगीता पुरी ने कहा…

आना और जाना तो समय का स्‍वभाव है .. आपके लिए भी नया वर्ष मंगलमय हो !!

Himanshu Pandey ने कहा…

नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ।

समयचक्र ने कहा…

हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार में प्रभावी योगदान के लिए आभार
आपको और आपके परिजनों मित्रो को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये...

वर्षा ने कहा…

अतीत की याद के स‌ाथ बेहतर भविष्य की शुभकामनाएं

Gyan Dutt Pandey ने कहा…

नव वर्ष आपके और आपके परिवार के लिये हार्दिक मंगलमय हो!

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

नवल धवल सूरज से आलोकित हो घर आँगन परिवार.
नूतन वर्ष २०१० की आपको अशेष शुभकामनायें अपार

राज भाटिय़ा ने कहा…

आप को ओर आप के परिवार को नववर्ष की बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएँ!

Udan Tashtari ने कहा…

वर्ष २०१० मे हर माह एक नया हिंदी चिट्ठा किसी नए व्यक्ति से भी शुरू करवाने का संकल्प लें और हिंदी चिट्ठों की संख्या बढ़ाने और विविधता प्रदान करने में योगदान करें।

- यही हिंदी चिट्ठाजगत और हिन्दी की सच्ची सेवा है।-

नववर्ष की बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएँ!

समीर लाल
उड़न तश्तरी

उम्मतें ने कहा…

शुभकामनायें !

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

वर्ष नव-हर्ष नव-उत्कर्ष नव
-नव वर्ष, २०१० के लिए अभिमंत्रित शुभकामनाओं सहित ,
डॉ मनोज मिश्र

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद ने कहा…

THE KING IS DEAD LONG LIVE THE KING

हर नया साल पुराना होकर चला जाता है और नया होकर लौटता है:) नववर्ष की शुभ कामनाएं॥

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

नये साल की घणी रामराम.

रामराम.