@import url('https://fonts.googleapis.com/css2?family=Yatra+Oney=swap'); अनवरत: डाक्टर, ज्योतिषी और वकील खामोखाँ नहीं डराते

मंगलवार, 27 अक्तूबर 2009

डाक्टर, ज्योतिषी और वकील खामोखाँ नहीं डराते

आज तीसरा खंबा की पोस्ट नाबालिग लड़की को भगाकर शादी करना सजा को न्यौता देना है पर निम्न टिप्पणी मिली ...
पी.सी.गोदियाल 27 October, 2009 9:35 AM  

"नाबालिग लड़की को भगाकर शादी करना सजा को न्यौता देना है।"
Hmmm,लगता है इन वकील लोगो के पास भी आजकल कोई काम नहीं , खामखा लोगो को डरा रहे है :)
इस टिप्पणी को देख मुझे अपनी एक लघु कविता स्मरण हो आई। कविता हाड़ौती में है, लेकिन समझ आएगी। वैसे सुविधा के लिए हिन्दी रूपांतर साथ है।

कविता देखिए ...

काँईं डाग्दर, काँईं जोशी अर काँईं वकील  
डरिया ने और डरावै    
फेर डर सूँ खड़बा को गेलो बतावै   
अर जे, अश्याँ न करे    
तो आपणा घर का गबूल्या ही बकावै




हिन्दी रूपांतरण... 

क्या डाक्टर, क्या ज्योतिषी और क्या वकील   
डरे हुए को और डराए 
फिर डर से निकलने का रास्ता बताए और,  
जो ऐसा न करे  तो,  
खुद के घर के बिस्तर/कपड़े बेचे 

  • दिनेशराय द्विवेदी

12 टिप्‍पणियां:

Smart Indian ने कहा…

वाह, वाह! [no further comments]

संगीता पुरी ने कहा…

सही है !!

शरद कोकास ने कहा…

क्या डाक्टर, क्या ज्योतिषी और क्या वकील ( श्री दिनेश राय द्विवेदी को छोड़कर ) हा हा हा ।

संगीता पुरी ने कहा…

@शरद कोकास जी,
क्या डाक्टर, क्या ज्योतिषी और क्या वकील ( श्री दिनेश राय द्विवेदी को छोड़कर )
की जगह क्या डाक्टर, क्या ज्योतिषी(संगीता पुरी को छोड़कर )और क्या वकील ( श्री दिनेश राय द्विवेदी को छोड़कर ) लिंखें .. ब्‍लाग जगत के बहुत सारे लोगों ने मुझसे व्‍यक्तिगत सलाह ली है .. किसी से पूछ लें यदि उन्‍हें डराया हो .. क्‍यूंकि मेरे द्वारा किसी कर्मकांड करवाने या रत्‍न धारण करवाने के बहाने कमीशन कमाने का लालच नहीं होता !!

P.N. Subramanian ने कहा…

Bahut acche.

राज भाटिय़ा ने कहा…

वाह क्या बात है, अजी क्या डरे हुये को डराये जो पहले ही डरा होता है, वही तो इन की शरण मै आता है... मजे दार जी, लेकिन मुझे ज्योतिष से कोई डर नही लगता, डाकटरो के पास इतना जा चुका की अब उन से भी डर नही लगता.... वकील से तो सच मै डर लगता है जी:)

अनाम ने कहा…

राज भाटिया जी हमेशा चुटकी ले ही लेते हैं :-)

बी एस पाबला

Ashok Kumar pandey ने कहा…

क्या कहने है वक़ील साहब!!!

रंजन (Ranjan) ने कहा…

सही है...

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

आज तो बिल्कुल सिक्सर ही मारा है.:)

रामराम.

निर्मला कपिला ने कहा…

sसही ह्ै शुभकामनायें

Gyan Dutt Pandey ने कहा…

तीनों से भगवान बचाये! :)