Thursday, August 27, 2009

मुन्नी पोस्ट, मुन्नी कविता, 'मम्मी इतना तो बतला दो' पुरुषोत्तम ‘यक़ीन’

 पुरुषोत्तम ‘यक़ीन’ की इस मुन्नी कविता और आप के बीच से अब मैं हटता हूँ। 
आप पढ़िए.....
मम्मी इतना तो बतला दो
  •   पुरुषोत्तम ‘यक़ीन’

बिस्कुट तो ले आते पापा
गोदी नहीं बिठाते पापा

मम्मी इतना तो बतला दो
कब आते, कब जाते पापा
********************
Post a Comment