Wednesday, July 22, 2009

हम भी देखेंगे एनडीटीवी

अस्वस्थता में वकालत के दायित्वों के कारण मेरा भुर्ता बना हुआ है।  पर मुई बिलागिरी खींच ही लाती है। ज्यादा पोस्टें पढ़ ही नहीं पा रहे तो टिपियाई भी नगण्य हो कर रह गई है।  "चोर चोरी से जाए, पर हेराफेरी से न जाए"। चलो कुछ मुन्नी आलेखिकाऐं ही हो जाएँ...............

पता नहीं एनडीटीवी में और उन के एंकर कम ब्लागर रवीश कुमार जी में न जाने क्या खासियत है?  हर महिने हिन्दी ब्लागरी में उन की एँकरी का जिक्र हो जाता है।  मैं ने अपने टीवी पर एनडीटीवी तलाशा तो गायब था।  मैं ने केबल वाले से लड़ने का मूड बना लिया।  उसे एक गाली फैंकी.....बाटी सेक्या!* हमारे चर्चित वरिष्ठ हिन्दी ब्लागर और एँकर जी का चैनल ही सप्लाई नहीं करता है।  फिर सोचा उस की शक्ल बिगाड़ने के पहले दस्ती समस्वरण (tuning) कर के देखूँ। वहाँ एऩडीटीवी मिल गया। हमने लगाया कि तभी नाक झाड़ने का तकाज़ा हो चला। हम उठ कर वाश बेसिन तक जा कर आए। तब तक श्रीमती जी अपना वाला चैनल लगा चुकीं थीं।  हमारी हिम्मत न हुई कि इस सुप्रीमकोर्ट की अवमानना कर दें। हम श्रीमती जी के सोने की प्रतीक्षा करेंगे। अगर तब तक हम खुद न सो गए तो। वर्ना जुकाम रात को दो-तीन बार जगा ही देता है। तब एनडीटीवी और रवीश कुमार जी के दर्शन-श्रवण लाभ प्राप्त किए जाएँगे।  अब ये कोई जरूरी नहीं कि इस दर्शन-श्रवण लाभ को आप के साथ बांटा ही जाए।

*बाटी सेक्या! = [यह हमारे हाड़ौती की एक गाली है, जो उन लोगों को इंगित करती है जो किसी के मृत्यु की कामना करते हुए उस के तीसरे (अस्थिचयन) के दिन बाटी सेक कर खाने की कामना करते रहते हैं]

22 comments:

jitendra said...

mujhe bhi ndtv dekhne ki bimaari hain raat 9.30 baje ravish ji ko aap roz dekh sakte hain

jitendra said...

mujhe bhi ndtv dekhne ki bimaari hain ravish ji waise 9.30 ko rozana milte hain ndtv india me

Manish Kumar said...

Shigra Swasth hoiye..I
dhar pichle do teen dinon se bukhar ne humein bhi halkan kar rakha tha.

अजय कुमार झा said...

लीजिये इत्ती ट्यूनिंग की फिर भी कुछ हाथ नहीं लगा...थोड़ी सी ट्यूनिंग श्रीमती जी के साथ कर लेते तो देख पाते .....हा..हा..हा..

Udan Tashtari said...

देखकर हमें भी बताना..हमारे यहाँ भी नहीं आता!!

अभिषेक ओझा said...

हम तो नहीं देखते जी एनडीटीवी. आप देखकर बताइये कैसा लगता है. वैसे तो टीवी ही कितना देखते हैं हम. पर टाईम्स नाऊ थोडा-बहुत देख लेते हैं बाकी ऑफिस में दिन भर एनडीटीवी प्रोफिट जरूर चलता रहता है.

डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर said...

हम भी देखते हैं एनडीटीवी.

शरद कोकास said...

दस्ती समस्वरण का जवाब नहीं. फिलहाल स्वास्थ्य के लिये दुआयें

yuva said...

गजब की हिंदी की है आपने टयूनिंग की- दस्ती समस्वरण. अब तो इसका भी अर्थ शब्दकोष में देखना पड़ेगा.

Arvind Mishra said...

अब ब्लागिंग करें की एन दी टी वी देखें ?

डॉ. मनोज मिश्र said...

कहाँ समय है सर जी .

रंजन said...

राखी के स्वंयवर की खबरे NDTV पर देख मोह भंग हो गया..

ताऊ रामपुरिया said...

टीवी देखे ही समय हो जाता है अब तो. बस बिलागरी ही देख पात्ते हैं.

रामराम.

Anonymous said...

बाटी सेक्या :)
पहली बार इसकी व्याख्या पढने को मिली।

डॉ .अनुराग said...

आप भी ज्ञान जी की तरह शब्द ज्ञान बढाने लगे ...हमें एन डी टी वी के we the people ओर हम लोग खासे पसंद है .फिलहाल कारगिल पे उनका प्रोग्राम देख लेते है .पर वाकई आजकल times now अच्छी बहसे ओर सरोकार रख रहा है

PD said...

जब आपके यहां एन.डी.टी.वी.आ ही गया है तो अगर मौका मिला तो रात के साढ़े बारह बजे विनोद दुवा लाईव भी देख ही लिजियेगा.. मुझे पसंद है.. पुराने अनमोल गाने भी सुनाते हैं विनोद दुवा जी.. :)
रविश जी और विनोद दुवा जी के अलावा मुझे अभिज्ञान को भी सुनना अच्छा लगता है उस पर..

रंजना [रंजू भाटिया] said...

बाटी सेक्या :) यह शब्द और इसका अर्थ पहली बार जाना ..इस चैनल को तो देखना बनता है खास कर रविश जी और विनोद दुआ जी

Nirmla Kapila said...

ये बाटी सेक्या हमारे लिये नया शब्द हैेआज से हम भी NDTV देखेंगे हमे तो प्ता ही नहीं था धन्यवाद जल्दी से ठीक होईयेगा शुभकामनायें

अशोक कुमार पाण्डेय said...

उस लडाई में ऐसा फंसा था कि इधत आ ही नही पाया।
इस नयी गाली की जानकारी के लिये आभार

निशांत मिश्र - Nishant Mishra said...

अद्भुत गाली के बारे में बताया आपने. वाकई, बहुत से लोग मौका पड़ने पर चिता की अग्नि में भी हाथ सेकने को तैयार रहते हैं.

विवेक सिंह said...

हमारी हिम्मत न हुई कि इस सुप्रीमकोर्ट की अवमानना कर दें।

अवमानना तो हो गई जी ,और दोनों की ही हो गई,

एक दूसरे से तुलना करके,

यह अलग बात है कि आप वकील हैं कोई न कोई पेंच निकाल ही लेंगे :)

Rakesh Singh - राकेश सिंह said...

अच्छा वही nehru dynasty TV की बात कर रहे हो ! मैंने तो इसे देखना ही बंद कर दिया है कुछ अच्छा आये तो बताना |